Home » Editor's Pick » आँखों की बनावट से जानिये व्यक्तित्व के राज

आँखों की बनावट से जानिये व्यक्तित्व के राज

सामुद्रिकशास्त्र : आँखों की बनावट से जानिये व्यक्तित्व के राज सामुद्रिक शास्त्र में अंग लक्षण के आधार पर व्यक्तित्व के विषय में बताया गया है। किसी भी व्यक्ति के आँखों की बनावट को देखकर उसकी चारित्रिक विशेषताओं का आकलन किया जा सकता है। चेहरा हमारे व्यक्तित्व और स्वभाव का प्रतिनिधित्व करता है। मन के भीतर जो भाव चलते हैं वही चेहरे पर प्रतिबिंबित होते हैं। आँखें मन की भाषा बोलती है।  मुखाकृति विज्ञान के आधार पर आइए जानते है किसी भी व्यक्ति के आँखों की बनावट को देखकर, उसके व्यक्तित्व और चरित्र के बारे में कैसे जान सकते हैं ।

 बड़ी ऑंखें : बड़ी ऑंखें शुभ मानी जाती है।बड़ी ऑंखें  : बड़ी ऑंखें शुभ मानी जाती है। ऐसे लोग भावुक प्रकृति के होते हैं और हमेशा खुश रहते हैं। समाज में यश – कीर्ति और सम्मान प्राप्त करते हैं और दूसरों को अपनी तरफ आकर्षित करने में कामयाब होते हैं।इनकी आँखों की बनावट ऐसी होती है कि इनके चेहरे पर हमेशा रौनक रहती है और  विपरीत लिंग के प्रति विशेष आकर्षण होता है। इसे भी पढ़ें :प्रात: बिस्तर छोड़ने से पहले अपने हाथों को देखें

छोटी आँखों वाले व्यक्ति अपनी आलोचना के प्रति सजग रहते हैं।छोटी आँखें  : छोटी आँखों वाले व्यक्ति अपनी आलोचना के प्रति सजग रहते हैं। वे अल्प भाषी और आत्म केंद्रित होते हैं ऐसे व्यक्ति के मित्र बहुत कम होते हैं क्योंकि वे व्यवहारिक नहीं होते हैं।लेकिन ऐसे लोग अंतर्मुखी प्रतिभा के धनी होते है और अपने काम के प्रति सजग रहते हैं । ऐसे आँखों की बनावट वाले युवक – युवतिया विपरीत लिंगों के प्रति उदासीन होतें हैं।

छोटी व बड़ी ऑंखें : ऐसे व्यक्ति का जीवन संघर्षमय होता है।छोटी  व बड़ी ऑंखें  : जिन लोगों की आँखों की बनावट ऐसी हो की एक आँख छोटा और दूसरी आँख बड़ा हो, ऐसे व्यक्ति  का जीवन संघर्षमय होता है। जीवन में काफी उतार – चढाव आते रहता है। कभी बहुत अधिक समृद्धि तो कभी धन का अभाव। जीवन में सफलता और असफलता के बीच संघर्ष चलता रहता है।इसे भी पढ़ें : मूलांक 8 : तपस्वी परोपकारी होते हैं, जिनके जन्म की तारीख 8, 17, या 26 हो

ऊँची व नीची ऑंखें : ऐसे व्यक्ति के जीवन में संघर्ष चलता रहता है।ऊँची व नीची ऑंखें  : ऐसे व्यक्ति के जीवन में संघर्ष चलता रहता है। कभी मानसिक तनाव व डिप्रेशन रहता है तो कभी अत्यधिक प्रसन्नता व आनंद की प्राप्ति होती है। अपने लछ्य को प्राप्त करने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ता है। व्यक्ति जितना मेहनत करता है उस अनुपात में उसे सफलता कम मिलती है।

आँखों के बीच अधिक फासला : ऐसा व्यक्ति शब्दों के अभिव्यक्ति में माहिर होता है आँखों के बीच अधिक फासला  : दोनों आँखों के बीच अगर अधिक फासला हो तो ऐसा व्यक्ति शब्दों के अभिव्यक्ति में माहिर होता है और गहरी सूझ – बुझ से अपनी भाषण कला से दूसरों को प्रभावित करता है। अधिक बुद्धिमान व तेजस्वी महापुरुषों की आँखें ऐसी ही होती है। इसे भी पढ़ें : कहीं आपकी जन्म की तारीख 1,10,19 या 28 तो नहीं ?

सटी हुई पास- पास आँखें : ऐसे व्यक्ति संकीर्ण मनोवृति के होते हैं। सटी हुई पास पास आँखें  : दोनों आँखों के बीच का फासला यदि कम हो तो ऐसे व्यक्ति संकीर्ण मनोवृति के होते हैं। अपनी हार व कमजोरी को स्वीकार नहीं करते हैं। हमेशा अपनी प्रकृति के विपरीत कार्य करते हैं और अपने करीबियों के प्रति ईर्ष्या रखते हैं।

ऊपर की ओर तिरछी आँखें :ऐसे लोग आशावादी और अत्यन्त महत्वाकांक्षी होते हैं ऊपर की ओर तिरछी आँखें  : जिन व्यक्तियों की आँखें ऊपर की ओर तिरछी होती है उनमे आत्मसम्मान के गुण भरपूर होते हैं। ऐसे लोग आशावादी और अत्यन्त महत्वाकांक्षी होते हैं साथ में भौंहें भी अगर ऊपर की ओर तिरछी हो तो ये गुण और भी अधिक होते हैं।

नीचे की ओर से तिरछी आँखें : तिरछापन अगर नीचे की ओर से हो तो ऐसे व्यक्ति निराशावादी होते हैं।  नीचे की ओर से तिरछी आँखें  : तिरछापन अगर नीचे की ओर से हो तो ऐसे व्यक्ति निराशावादी होते हैं। हालांकि अपना हर काम सोच – विचार कर करते हैं। ऐसे लोग थोडे डरपोक प्रवृति के भी होते है। यदि भौंहें भी नीचे की ओर ढाल लिए हुए हो तो अवगुण और भी अधिक बढ़ जाता है। इसे भी पढ़ें : हस्त रेखा शास्त्र : अंगुलियों के पौरों में छिपी होती है भविष्य सूचक घटनाएं 

गहरी भीतर धंसी आँखें ; ऐसे व्यक्ति को समझना बड़ा मुश्किल होता हैगहरी भीतर धंसी आँखें  ; ऐसे व्यक्ति को समझना बड़ा मुश्किल होता है, ये लोग अपनी मन की बात या भेद कभी भी दूसरों को प्रकट नहीं करते हैं। अपने भाव व आवेश को काबू में रखतें हैं।ये शांत होते है, इनको क्रोध देर से आता है और देर से क्रोध शांत होता है।

बाहर की ओर उभरी आँखें : ऐसे व्यक्ति के पेट में कोई बात नहीं पचती है,  बाहर की ओर उभरी आँखें  : ऐसे व्यक्ति के पेट में कोई बात नहीं पचती है, एक की बात दूसरे को तुरंत बता देते हैं। वे सरल स्वभाव के होते हैं इनके अंदर छल- कपट नहीं होता है।इनके मन के विचार बार बार परिवर्तित होते हैं।

आँखों के कोने नुकीले हों : ऐसे लोग अपनी आय की अपेछा व्यय अधिक करते है आँखों के कोने नुकीले हों  : नाक के पास वाले आँखों के कोने यदि नुकीले हों तो ऐसा व्यक्ति अपने खर्च को लेकर परेशान रहता है। ऐसे लोग अपनी आय की अपेछा व्यय अधिक करते है। इसलिए हमेशा कर्ज में रहते हैं । इसे भी पढ़ें : जन्म कुंडली: 10 ग्रह-योग जो इंसान को समलैंगिक बनाता है

 भैंगी आँखों वाले बच्चे भाग्यशाली होतें हैंभैंगी आँखें  : भैंगी आँखों वाले बच्चे भाग्यशाली होतें हैं। ऐसे व्यक्ति अपनी मध्यावस्था में काफी संघर्ष भोगने के बाद धीरे धीरे सफलता प्राप्त करते हैं। ये भाग्यशाली होते हैं और इनका दिल साफ़ होता है। ये किसी भी परिस्थिति के अनुसार अपने आप को ढाल लेते है।

त्रिकोणाकार आँखें : ऐसी आँखों वाले व्यक्ति राजनीति में माहिर होते हैं त्रिकोणाकार आँखें  : बड़ी तिकोनी आँखों को शुभ व भाग्यवर्धक माना गया है। ऐसी आँखों वाले व्यक्ति राजनीति में माहिर होते हैं, अपनी स्वार्थ सिद्धि के लिए योजनाएं बनाते रहते हैं। जो लोग इनके विचारों से सहमत नहीं होते , उनसे इनका विरोध बना रहता है। छोटी तिकोनी आँखों वाले लोग लोकप्रियता के मामले में पीछे रहते हैं। ये लोग दूसरों के काम में हस्तछेप  करते रहते हैं।

चन्द्राकार आँखें : बेईमानी व धोखा देना इनके स्वभाव में होता है चन्द्राकार आँखें  : चन्द्राकर आँखें दो तरह की होती है ।

१. जिस व्यकि की आँखें बीच में से ऊपर की ओर उठी हुई हो वे लोमड़ी की तरह स्वार्थी और चालाक होते हैं। बेईमानी व धोखा देना इनके स्वभाव में होता है ये अपना काम निकलवाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं ।

चन्द्राकार आँखें : ऐसे लोग अपने जीवन साथी के प्रति वफादार नहीं होते हैं  २. जिन व्यक्तियों की आँखें बीच में नीचे की तरफ झुकी हुई हो वे कामुक होते हैं। ऐसे लोग अपने जीवन साथी के प्रति वफादार नहीं होते हैं और चरित्रहीन होते हैं।सजना-_संवारना इन्हें काफी पसंद होता है। मनोविनोद में इनकी काफी रुचि रहती है।

गाय के समान आँखें: ऐसे लोग एकांतप्रिय और प्रकृतिप्रेमी होते हैगाय के समान आँखें  : जिन व्यक्तियों की आँखें, गाय की आँखों की तरह होती है, वे उदार ह्रदय के होते हैं। निःस्वार्थ भाव से दूसरों की मदद करते हैं। ऐसा व्यक्ति समाज सेवी होता है और हमेशा संमाज के लिए ही सोचता है।ऐसे लोग एकांतप्रिय और प्रकृतिप्रेमी होते है। इसे भी पढ़ें : आपका भाग्य कहीं बंधा तो नहीं है ?

मोर जैसी आँखें : ऐसे लोग मधुर स्वाभाव के होते हैं  मोर जैसी आँखें  : ऐसे लोग मधुर स्वाभाव के होते हैं जिसको भी चाहते हैं पुरे दिल से चाहते हैं । प्रेम – प्रसंग में अगर इनके साथी को कोई छीन ले तो वे ईर्स्या से पागल तक हो जाते है। कला संस्कृति से इन्हें विशेष लगाव होता है ।

 शेर जैसी आँखें : अहंकार इनका गुण हैशेर जैसी आँखें  : शेर जैसी आँखों वाले लोग अपनी बात व वचन के पक्के होते है, जो काम हाथ में लेते हैं उसे पुरे संकल्प के साथ पूरा करते हैं। इस तरह के आँख को उत्तम श्रेणी का माना गया है ।अहंकार इनका गुण है। देश की रक्षा के लिये स्वाभिमान के साथ जीना व मरना इन्हें आनंदित करता है।

लोमड़ी जैसी आँखें : ऐसी आँखों वाले लोग चालाक , धोखेबाज और स्वार्थी किस्म के होते हैंलोमड़ी जैसी आँखें  ; लोमड़ी जैसी आँखें कुछ लंबी और झुकी हुई गोल आँखें होती है। ऐसी आँखों वाले लोग चालाक , धोखेबाज और स्वार्थी किस्म के होते हैं। ये लोग अपने स्वार्थ के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं । इसे भी पढ़ें : सामुद्रिक शास्त्र : अंगुलियां बतायें आपके चरित्र के राज