Home » Tag Archives: लग्नेश

Tag Archives: लग्नेश

वैदिक ज्योतिष : धनु लग्न में 20 धन योग

वैदिक ज्योतिष : धनु लग्न में 20 धन योग

1. धनु लग्न में बुध+सूर्य+गुरु राजयोग हैं। बृहस्पति यहां लग्नेश हैं यदि ये केंद्र या त्रिकोण में हो, धनदाता ग्रह शनि अपने ही घर तीसरे भाव में हो और बुध केंद्र में हो तो लक्ष्मीवान योग बनता है। 2. यदि नवमेश सूर्य द्वितीय भाव में और द्वितीयेश शनि भाग्य स्थान में जाये अर्थात नवमेश और द्वितीयेश का परस्पर स्थान परिवर्तन ...

Read More »

वैदिक ज्योतिष : वृश्चिक लग्न में 20 धन योग

वैदिक ज्योतिष : वृश्चिक लग्न में 20 धन योग

1. वृश्चिक लग्न में गुरु दूसरे भाव या पंचम भाव में अपनी ही राशि में हो अथवा भाग्य स्थान  में कर्क राशि (उच्च का) में हो तो ऐसे व्यक्ति को सदा धन प्राप्त होता रहता है। जीवन में धन का अभाव नहीं होता। 2. यदि यहां लग्नेश मंगल भाग्येश चंद्रमा के साथ आय भाव में हो और द्वितीयेश बृहस्पति पंचम ...

Read More »

वैदिक ज्योतिष : तुला लग्न में 20 धन योग

वैदिक ज्योतिष : तुला लग्न में 20 धन योग

 1. तुला लग्न में मंगल धनकारक ग्रह है। यदि यह मंगल अपनी ही राशियों (मेष, वृश्चिक) में हो अथवा मकर में उच्च का हो जायें तो व्यक्ति को धन का कभी अभाव नहीं रहता है। 2॰ तुला लग्न में सूर्य की सिंह राशि 11वें भाव (आय स्थान) में है। यदि मंगल आय स्थान में और आयेश सूर्य, मंगल के घर ...

Read More »

वैदिक ज्योतिष : कन्या लग्न में 20 धन योग

वैदिक ज्योतिष : कन्या लग्न में 20 धन योग

1. कन्या लग्न में यदि शुक्र जो कि राजयोग कारक है, अपनी ही राशियों यानी वृष, तुला या अपनी उच्च की राशि, मीन में हो तो ऐसे व्यक्ति को धन की कभी कमी नहीं होती। 2. यदि बुध और पंचमेश शनि लग्न में युति बनाये या लग्नेश बुध को शुक्र व शनि देखें तो व्यक्ति जनता से धन प्राप्ति में ...

Read More »

वैदिक ज्योतिष : सिंह लग्न में 20 धन योग

वैदिक ज्योतिष : सिंह लग्न में 20 धन योग

1. सिंह लग्न में यदि द्वितीयेश बुध अपनी ही राशि कन्या या मिथुन में हो तो व्यक्ति जीवन भर धन प्राप्त करता रहता है। उस पर विष्णुप्रिया लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है। 2. सूर्य यदि लग्न में आ जाये और पचमेष गुरु व भागयेश मंगल की दृष्टि मिल जाये तो ऐसा व्यक्ति जनता से खूब धन प्राप्त करता है, ...

Read More »

वैदिक ज्योतिष : मिथुन लग्न में 20 धन योग

वैदिक ज्योतिष : मिथुन लग्न में 20 धन योग

1. मिथुन लग्न में धनेश चंद्रमा यदि अपनी ही राशि में दूसरे भाव में है या उच्च (वृषभ राशि) का होकर 12वें में है तो व्यक्ति धनवान होता है। 2. यदि शुक्र स्वराशि का होकर पंचम भाव में हो और भू-संपत्ति का स्वामी मंगल लाभ स्थान में स्थित हो जाये, तो व्यक्ति के पास बहुत भू-संपत्ति होती है। 3. मिथुन ...

Read More »

आपका भाग्य कहीं बंधा तो नहीं है ?

ईमानदारीपूर्वक और कठिन परिश्रम करने के बावजूद भी नौकरी नहीं मिलती हो।तो समझ लेना चाहिए, कि भाग्य साथ नहीं दे रहा है।

 कठिन परिश्रम के बाद भी किस्मत, आपका साथ नहीं दे, और धक्के खाने पड़े तो व्यक्ति निराश हो जाता है। लगातार मेहनत और व्यापार करने पर लाभ की जगह घाटा हो रहा हो। ईमानदारीपूर्वक और कठिन परिश्रम करने के बावजूद भी नौकरी नहीं मिलती हो। योग्यता व पात्रता  होने के बावजुद अच्छे वेतन नहीं मिलता हो। आपके जूनियर को तरक्की ...

Read More »